Wednesday, September 16, 2009

हमारी भूख-हल्का व्रत और भारी सेक्स

चौंकिए नही, ये विचित्र किंतु सत्य है। हो सकता है की हम में से बहुत सारे लोग इस सच को जानते हो की अब सेक्स धर्म पर भारी पड़ने लगा है, लेकिन में दावे के साथ कह सकता हु की जिस सेक्स और व्रत की बात में कर रहा हूँ वह आप नही जानते हैं। क्योंकि व्रत को हल्का कर सेक्स को भारी करने वाले तो आप और में ही हैं। खेर ये बाद में विचार करना की केसे? लेकिन इसके पहले ये जान ले की हमने ये गलती की कब। दरअसल वेब दुनिया की एक बड़ी साईट है लाइव हिंदुस्तान डॉट कॉम। इस साईट पर हर पल समाचार अपडेट होते हैं और इसकी पाठक संख्या भी काफी ज्यादा है। इस साईट पर एक कालम है जिसमे सबसे अधिक पड़ी जाने वाली खबरों का जिक्र होता है। हालाँकि ये कोई नई बात नही है, लेकिन यहाँ जिन ख़बरों का जिक्र है और उनकी रैंकिंग दर्ज है। वह चौंकने पर तो नही लेकिन सोचने पर जरूर मजबूर करता है। क्योंकि अभी तो ऐसे हालत नही हुए हैं की व्रत सेक्स से भी हल्का हो जाए। लेकिन वेबसाइट पर दर्ज रैंकिंग तो उसी तरफ इशारा कर है। लेकिन पूरी रैंकिग में एक चौंकाने वाली जो सबसे बड़ी बात है की व्रत केसे करे को पांचवां स्थान मिला है। मुझे व्रत वाली खबर पर हैरत इस लिए हो रही है की व्रत केसे करें पड़ने वाले लोग कौन हैं। और व्रत केसे करें पड़ने वाले लोग हैं तो फ़िर सेक्स की वे ख़बरें जिनका हकीकत से वास्ता कम है को क्यों पड़ा जा रहा है। सोचना जरूरी तो नही लेकिन सोचेंगे तो शायद सेहत पर असर नही पड़ेगा।
अब एक नज़र उन पाँच ख़बरों पर जिनके कारण मेरी बकवास आपको पड़नी पड़ रही है। क्योंकि आपको कुछ और भी तो पड़ना होगा। 1
एक टीचर ने बलात्कार किया, दूसरी ने कपड़े उतारे

3 comments:

Ratan Singh Shekhawat said...

लोगो को चटपटा पढने की आदत है इसीलिए ऐसी खबरे ज्यादा पढ़ी जाती है | अख़बारों में भी ऐसी ख़बरों को ज्यादा प्रमुखता दी जाती है |

Amit K Sagar said...

ब्लोगिंग जगत में आपका स्वागत है. आपको पढ़कर बहुत अच्छा लगा. सार्थक लेखन हेतु शुभकामनाएं. जारी रहें.


---
Till 25-09-09 लेखक / लेखिका के रूप में ज्वाइन [उल्टा तीर] - होने वाली एक क्रान्ति!

Pandit Kishore Ji said...

samajh nahi aaya aap kahna kya chah rahe hain
jyotishkishore.blogspot.com

हर तारीख पर नज़र

हमेशा रहो समय के साथ

तारीखों में रहता है इतिहास