Saturday, November 13, 2010

आज खुशवंत सिंह की वजह से एक नया ज्ञान मिल गया है

आज मैं और मेरे साथी राधेश्याम दांगी बैठे थे और आपस में चर्चा करने लगे.
राधे-यार भीम तुम्हे मालूम है कि वाइन, विस्की, वोदका, मॉल्ट, स्कॉच और रम में क्या अंतर होता है।
भीम-यार कभी इस बारे में सोचा नहीं।
राधे-लेकिन मैं इस बारे में जानना चाहता हूं।

भीम-अचानक दारू के प्रकारों के बारे में जानने का विचार कैसे आ गया।

राधे-खुशवंत सिंह की वजह से।
भीम-खुशवंत सिंह!
राधे-अरे आज दैनिक भास्कर के संपादकीय पेज पर
उनका आर्टिकल छपा है और एक जगह उन्होंने जिक्र किया है कि एक कार्यक्रम में मेरे यहां आने वालों से पूछा कि वे लोग क्या लेना पसंद करेंगे। स्कॉच, वाइन, वोदका या अन्य कोई। तो उन्होंने मना कर दिया कि कोई नहीं।
बस इस आर्टिकल को पढ़कर लगा कि आखिर इन सब में अंतर क्या होता है?

भीम-चिंता की कोई बात नहीं। अभी पूछे लेते हैं किसी से।
भीम फोन से मोबाइ
नंबर डायल करते हैं
सामने से एक आवाज गूंजती है जो कि सुनील नामक पत्रकार की थी।
भीम-हां जी भीमसिंह बोल रहा हूं। कल आप याद कर रहे थे आज हमने याद कर लिया।
सुनील-खुशकिस्मती हमारी। याद करते रहना चाहिए। बताए कुछ खास।
भीम-मुझे वोदका, वाइन, व अन्य शराबों में अंतर जानना है।

सुनील-ठीक है इसके लिए एक ही आदमी सबसे बेहतर हैं और वो अपने बॉस। अभी बात कराता हूं।
बॉस-क्या हाल है मी
णा जी। बहुत दिनों बाद याद किया।
भीम-बस सर काम चल रहा है। आपसे ज्ञान लेना है।
बॉस-बताए।
भीम-वाइन, वोदका, स्कॉच, मॉल्ट, विस्की और रम में क्या अंतर होता है?
बॉस-अचानक आज ये जानकारी लेने की क्या जरूरत पड़ गई। क्या कोई खबर
बना रहे हो?
भीम-नहीं, बस यूं ही सामान्य ज्ञान बढ़ाने के लिए।
बॉस-ठीक है।

वाइन अंगूर से बनती है।
मॉल्ट में फ्लेवर मिला होता है और एक तरह से इसे विस्की भी कह सकते हैं। जैसे पीटर स्कॉच और रेड नाइट।
वोदका व्हाइट कलर की होती है जिसमें स्मैल कम आती है।
स्कॉच 12 साल से पुरानी शराब को कहते हैं और स्कॉच की बोतल पर बराबर लिखा रहता है।

भीम-जानकारी के
धन्यवाद
राधे-क्या बताया।
भीम-ये पढ़ो।(कागज राधे की तरफ बढ़ाया)
राधे-ये जानकारी तो जबरदस्त है। आज खुशवंत सिंह की वजह से एक नया ज्ञान मिल गया।

No comments:

हर तारीख पर नज़र

हमेशा रहो समय के साथ

तारीखों में रहता है इतिहास